प्रशासन के नाम पर पूरे देश में फिसड्डी साबित हुआ उत्तराखंड


विशेष संवाददाता

नई दिल्ली: विकास और सुशासन की आस लगाए बैठे उत्तराखंडियों के लिए पब्लिक अफेयर सेंटर (पीएसी) की नई रिपोर्ट बेहद चौंकाने वाली है। सेंटर की पब्लिक अफेयर इंडेक्स-2020 में उत्तराखंड तमाम पैमानों पर फेल होते हुए देश में गुड गवर्नेंस की रैकिंग में सबसे फिसड्डी राज्य साबित हुआ है। यही नहीं छोटे राज्यों की सूची में भी उत्तराखंड हिमाचल प्रदेश और पूर्वोत्तर के पहाड़ी राज्यों की तुलना में भी फिसड्डी साबित हुआ है।uttarakhand news

पब्लिक अफेयर इंडेक्स-2020 की सूची में केरल सबसे आगे है। जबकि तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक क्रमश: टॉप चार राज्यों में शामिल हैं। इस सूची के आधार पर दक्षिण भारत के राज्यों ने उत्तर भारत के मुकाबले अच्छा प्रदर्शन किया है। लेकिन उत्तराखंड में स्वास्थ्य, शिक्षा और रोज़गार की स्थिती पहले से ही बेहद खराब है, लेकिन इस रिपोर्ट के मुताबिक उत्तराखंड में प्रशासनिक स्तर पर भी स्थिती डामाडोल है यानि राम भरोसे है।uttarakhand news

उत्तराखंड का प्रदर्शन बाकि छोटे राज्यों की तुलना में नैगेटिव साबित हुआ है। छोटे राज्यों में गोवा 1.745 अंकों के साथ प्रथन स्थान पर है, इसके बाद मेघालय है जिसे 0.797 अंक हैं और हिमाचल प्रदेश को 0.725 अंक प्राप्त हुए हैं। लेकिन उत्तराखंड -0.277 अंक लेकर सबसे फिसड्डी राज्य बन गया है।uttarakhand news

बेंगलुरु स्थित पब्लिक अफेयर सेंटर (पीएसी) के अध्यक्ष और इसरो के पूर्व चेयरमैन के कस्तूरीरंगन ने कहा कि राज्यों को कड़े पैमानों के आधार पर सूचीबद्ध किया गया है। राज्यों में ज़मीनी स्तर पर हुए विकास और समाज में न्याय पूर्ण प्रशासन को परखने के लिए कई आधार बनाए गए हैं। इन्ही आधारों पर राज्यों में सुशासन की स्थिती को दर्ज किया गया और राज्यों की रैंकिंग की गई है।

uttarakhand news

पब्लिक अफेयर इंडेक्स (पीएआई) भारत के 30 राज्यों को सुशासन के आधार पर डेटा संचालित रैंकिंग प्रदान करता है। इसके लिए संस्था केंद्र सरकार के तमाम मंत्रालयों और विभागों से आंकड़े इकट्ठा करती है। इन आंकड़ों के आधार पर राज्यों के प्रदर्शन का मूल्यांकन करती है।

LEAVE A COMMENT

To be published, comments must be reviewed by the administrator.*



    देशातील सर्वात स्वस्त इलेक्ट्रिक कार झाली लाँच : टाटा टियागो EV अवघ्या 8.49 लाखांपासून; एका चार्जवर 315 किमी वेदांत – फॉक्सकॉन सेमी कंडक्टर प्रकल्पाचे सर्वेसर्वा अनिल अग्रवाल यांचे महत्वाचे मुद्दे वनडे फॉरमॅटमधून ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर ॲरॉन फिंचची निवृत्ती